Uttarakhand Khel Ratna Devbhumi Dronacharya Award

उत्तराखण्ड राज्य द्रोणाचार्य पुरस्कार शुरुआत करने की घोषणा सन 2013 में तत्कालीन खेल मंत्री श्री दिनेश अग्रवाल ने राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर की थी. हर वर्ष राज्य निर्माण दिवस (9 नवम्बर) के अवसर पर खेलों में अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाडियों को खेल रत्न एवं कोच को द्रोणाचार्य पुरुस्कार से सन्मानित किया जायेगा। हर खेल रत्न विजेता को 5 लाख एवं कोच को 3 लाख रूपये के पुरुस्कार से सम्मानित किया जायेगा. 09 नवम्बर 2013 को प्रथम बार ये पुरूस्कार दिए गये थे

देवभूमि द्रोणाचार्य खेल पुरस्कार विजेता (क्रमवार)

  1. हरि सिंह थापा - बॉक्सिंगनैनी सैंनी गॉंव, पिथौरागढ़
  2. नारायण सिंह राणा - निशानेबाज प्रशिक्षक
  3. रेणु कोहलीएथलेटिक्स
  4. सुरेंद्र सिंह भंडारी ओलंपियन- सर्विसेज के कोच

उत्तराखंड खेल रत्न पुरस्कार विजेता (क्रमवार)

  1. निशानेबाज जसपाल राणा को पहला उत्तराखंड खेल रत्न पुरस्कार मिला है।
  2. द्वितीय उत्तराखंड खेल रत्न पुरस्कार मरणोपरांत अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल खिलाड़ी त्रिलोक सिंह बसेड़ा को मिला।
  3. भारतीय फुटबाल टीम के सदस्य रह चुके, फुटबॉलर राम बहादुर क्षेत्री क्षेत्री को उत्तराखंड देवभूमि खेल रत्न 2015 से सम्मानित किया।
  4. बाजपुर निवासी ओलंपियन एथलीट गुरमीत सिंह को उत्तराखंड देवभूमि खेल रत्न 2016 से सम्मानित किया गया।

लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड उत्तराखण्ड खेल (क्रमवार)

  1. अर्जुन अवॉर्डी बॉक्सर पदम बहादुर मल्ल को राज्य का पहला लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड दिया गया।
  2. पूर्व बास्केटबॉल खिलाड़ी और अर्जुन पुरस्कार प्राप्त हरिदत्त कापड़ी को द्वितीय लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड दिया गया।
  3. राष्ट्रीय खेलों में एथलेटिक्स और भारोत्तोलन में कई स्वर्ण पदक जीतने वाली हंसा मनराल शर्मा को लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड दिया गया।
  4. नैनीताल निवासी पूर्व हॉकी खिलाड़ी ओलंपियन राजेंद्र सिंह रावत को चतुर्थ लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड दिया गया

यहाँ क्लिक करें और पड़े उत्तराखण्ड राज्य आन्दोलन से जुडी जानकारी.

You are reading Uttrakhand General Knowledge